DRDO ने साधी चुप्पी? राजनैतिक दबावतंत्र ने जकड़ रखे कलम?

पुणे में एयरफोर्स ‘एक्शन मोड’ में –

नागपुर- रक्षा मंत्रालय के रक्षा प्रतिष्ठानों भू-गिर्द निर्माणकार्य के लिए सख्त नियम-कानून कायदे हैं. एक बड़े विकास में, रक्षा मंत्रालय ने रक्षा प्रतिष्ठानों के 500 मीटर के भीतर स्थित निर्माणों पर प्रतिबंध हटा दिया है और स्पष्ट किया है कि केवल अत्यधिक संवेदनशील प्रतिष्ठानों के 50 मीटर के भीतर निर्माण के लिए स्थानीय सैन्य कमांडर से एनओसी की आवश्यकता होगी अमूमन देश भर में उक्त कानूनों का सख्ती से पालन हो रहा हैं परंतु  हाल ही में नागपुर में स्तिथ DRDO के क्षेत्र सिविल लाईन के चारदीवारी के निकट हो रहे बिल्डिंग निर्माण के खिलाफ शिकायत की जाने की चर्चा चल रही है लेकिन नागपुर में रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) का चुप्पी साधे बैठना कई सवाल खड़े कर रहा हैं ?  राज्य का महत्वपूर्ण शहर पुणे में एयरफोर्स स्टेशन पुणे ने साई सत्यम पार्क वाघोली को नोटिस भेजा हैं.वहीं नागपुर स्थित रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) चारदीवारी के निकट की विशालकाय इमारतों को संरक्षण दिया जाना,शहर में खासकर भवन निर्माण व्यवसाय क्षेत्रों में गर्मागर्म चर्चा का विषय बना हुआ हैं वह इसलिए भी कि इस निर्मित हो रही गगनचुंबी ईमारत के विकासक को राजनैतिक वर्दहस्त प्राप्त हैं.

 पुणे के एयरफोर्स स्टेशन ने साई सत्यम पार्क

https://pune.news/city/pune/high-stakes-demolition-air-force-notices-shake-sai-satyam-parks-commercial-landscape-129838/

Next Post

आरओ तंत्रज्ञानावर आधारित जल शुद्धीकरण यंत्रांवर बंदी

Tue Feb 6 , 2024
नवी दिल्ली :– “फ्रेंड्स थ्रू इट्स जनरल सेक्रेटरी विरुद्ध केंद्रीय जल संसाधन मंत्रालय”नामक ओ.ए. क्र.134/2015 या प्रकरणा संदर्भात राष्ट्रीय हरित लवादाने (एनजीटी) 20 मे 2019 रोजी जारी केलेल्या आदेशाद्वारे केंद्रीय पर्यावरण, वने आणि हवामान बदल मंत्रालयाला (एमओईएफ अँड सीसी) आरओ म्हणजेच रिव्हर्स ऑस्मॉसीस तंत्रज्ञानाचा वापर करणाऱ्या जल शुद्धीकरण यंत्रांच्या योग्य वापराबाबतचे नियम निश्चित करण्याचे आदेश दिले होते. त्यानुसार, केंद्रीय पर्यावरण, […]

You May Like

Latest News

The Latest News

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com