दिव्यांग खिलाडियों को सरकारने देनी चाहिए शिष्यवृत्ती – मेधा सोमैया की मांग

– विशेष ओलंपिक का समापन

नागपुर :- सरकारद्वारा दिव्यांग बच्चों के लिए विभिन्न खेल प्रतियोगिताएं आयोजित की जाती हैं। प्रतियोगिता होने के बाद सरकार इन बच्चों पर पर्याप्त ध्यान नहीं दे रही । मानसिक रूप से विकलांग और अन्य विकलांग एथलीटों के लिए प्रतियोगिताएं आयोजित कर के सर्वश्रेष्ठ एथलीटों का चयन किया जाए और उन्हे शिष्यवृत्ति मिलनी चाहिए एैसी मांग स्पेशल ओलंपिक्स इंडिया महाराष्ट्र की अध्यक्ष मेधा सोमैया ने की ।

स्पेशल ओलंपिक्स इंडिया के नागपुर डिवीजन द्वारा रविनगर स्थित नागपुर यूनिवर्सिटी ग्राउंड में आयोजित दिव्यांगों की स्पेशल ओलंपिक्स प्रतियोगिता गुरुवार को संपन्न हुई। इस कार्यक्रममें विशेष अतिथि के तौर वे बोल रही थीं । इस समय स्पेशल ओलंपिक्स भारत, महाराष्ट्र के क्षेत्रीय निदेशक डॉ. भगवान तलवारे , सामाजिक न्याय विभाग नागपूरचे प्रादे. उपायुक्त डॉ. सिद्धार्थ गायकवाड , जिल्हा जलतरण संघटनेचे अध्यक्ष डॉ. जयप्रकाश दुबळे, जिल्हा परिषद नागपूरचे जिल्हा समाजकल्याण अधिकारी किशोर भोयर, कश्मिरा भट, डॉ. असमा काझी, स्पोर्ट्स डायरेक्टर जितेंद्र ढोले, उमेश वारजुरकर, अध्यक्ष, स्पेशल आॅलम्पिक नागपूर सुहासिनी क्षिरसागर, विनोद ढोबळे, आय.डी. तज्ञ उपस्थित थे।

इस अवसर पर मेधा सोमैया ने कहा, देश में दिव्यांगों के बारे में जागरूकता लाने के उद्देश्य से राज्य के प्रत्येक जिले से चार लोगों की एक टीम बनाई जाएगी, जिसमें एक एथलीट लीडर यानी एक दिव्यांग लडका, एक सक्षम युवा लीडर, एक खेल शिक्षक और मार्गदर्शक का समावेश रहेगा। यह टीम देश भर भ्रमण करके दिव्यांगों को मुख्यधारा में लाने का प्रयास करेगी। इससे ही दिव्यांगों को जीवन जीने का नया आधार मिलेगा।

कार्यक्रम के आयोजन की सराहना करते हुऐ अपने संबोधन में डॉ. गायकवाड बोले, यहां तक पहुंचना और प्रतियोगिता में भाग लेना महत्वपूर्ण है । इस तरह की प्रतियोगिता से खिलाडियों की खेल भावना को निखार मिलता है। प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी विजेता हैं और भविष्य में इस प्रकार की आयोजन से दिव्यांग एथलीट वैश्विक स्तर पर भी अच्छा प्रदर्शन निश्चितही करेंग एैसी आशा उन्होने जतायी।

कार्यक्रम का संचालन संजय लुंगे और धन्यवाद ज्ञापन विशाल नायक ने किया। कार्यक्रम के सफलता के लिए भारती मराठे, अशोक नांगरे, अशोक जाधव, संतोष पठारे, आशीष देशपांडे, भूषण मैदुले, राजेश भामकर, लोकेश चोले, धीरज गोटमारे, सचिन रोकडे, सुनंदा गोडबोले, गीता रायकवार, नलिनी विजयकर, कविता पिल्ले, रेखा बारसागडे, मारोती भोयर, मंगेश मुसले , प्रशांत अहिरकर, जीतू पाटिल, दिनेश भोंडे, अविनाश बन्सोड, नीलेश राजुकर आदि ने प्रयास किया।

– संक्षिप्त परिणाम – पहले तीन स्थान

तैराकी- लडकियाँ – कुलकर्णी-वर्धा, मुनीरा मुर्तेज-पुणे, नागपुर- पारनल बोरसे

बोस- आयुष घोडे- नागपुर, ललित कोरेगांवकर- पालघर, धर्मथ खोबरागडे- नागपुर

एथलेटिक्स- सुलेमान वेदाना- मुंबई सिटी, संदेश कोल्हे, कुलदीप मारवाटे- दोनों नागपुर

बैडमिंटन-

मानसी बापट-रायगढ, सुमेधा सोनावणे-पुणे, मोनू रणदिवे-अमरावती

स्केटिंग-

श्रद्धा निकम-रायगढ, प्रेक्षा घेवाडी-रायगढ, रोसेन चार्ली-नागपुर

NewsToday24x7

Next Post

अभूतपूर्व काम : बार बार तुझको सलाम !! 

Fri Feb 2 , 2024
नेमका ढोपरापासून सलाम ठोकावा कुणाला, शिंदे फडणवीस कि अश्विनी भिडे यांना कि या तिघांनाही? सुरुवातीलाच सांगतो कि महाराष्ट्रात अलीकडे काही प्रकल्प आले उभे राहिले पण ज्यांच्या हातून काही महत्वाकांक्षी प्रकल्प उभे राहिले त्यांनी आधी आपल्या कुटुंबाचे पुढल्या किमान दहा पिढ्यांचे हित साधले, कुटुंबाच्या ‘ समृद्धी ‘ मध्ये भर घालून देशात तसेच परदेशातही अतिप्रचंड गुंतवणुकीचे मोठाले इमले बांधले, थोडक्यात आधी कुटुंबाचे […]

You May Like

Latest News

The Latest News

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com