मंदिर सरकार से मुक्त कराने के लिए मिलकर लड़ेंगे, संघर्ष करेंगे, -मंदिर सम्मेलन में उपस्थित ट्रस्टियों का निर्णय

– यवतमाल, अकोला, वर्धा, चंद्रपुर, अमरावती और नागपुर जिलों से 250 से अधिक मंदिर प्रतिनिधियों की उपस्थिति!

नागपुर :- श्रीराम मंदिर रामनगर, नागपुर में आयोजित महाराष्ट्र मंदिर ट्रस्ट सम्मेलन में उपस्थित मंदिर प्रतिनिधियों ने मंदिर को निजीकरण से मुक्त कराने के लिए एकजुट होकर संघर्ष करने का संकल्प लिया। इस सत्र में मंदिरों का उचित प्रबंधन, मंदिरों की व्यवस्था, मंदिरों की सुरक्षा, मंदिर धर्म के केंद्र बनें आदि विषयों पर प्रख्यात वक्ताओं ने श्रोताओं का मार्गदर्शन किया। प्रदीप पांडे, बॉम्बे हाई कोर्ट (पूर्व) के वकील सुरेश कुलकर्णी, प्रसिद्ध भागवताचार्य परम श्रद्धेय नंदकिशोर पांडे महाराज, महाराष्ट्र मंदिर महासंघ और हिंदू जनजागृति समिति के महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ राज्य संयोजक सुनील घनवट, जीवदानी माता मंदिर, विरार के अध्यक्ष प्रदीप तेंडोलकर, वायु सेना के उप प्रमुख (सेवानिवृत्त) एयर मार्शल शिरीष देव, पूर्व चैरिटी आयुक्त दिलीप देशमुख एवं अन्य गणमान्य उपस्थित थे।

श्री गुरु बृहस्पति मंदिर, संकटमोचन पंचमुखी हनुमान मंदिर, महाराष्ट्र मंदिर महासंघ और हिंदू जनजागृति समिति, श्री गणेश मंदिर हिल, महाराष्ट्र मंदिर-न्यास सम्मेलन (नागपुर-विदर्भ प्रांत) के सहयोग से आयोजित किया गया था। सम्मेलन में 250 से अधिक मंदिर प्रतिनिधियों ने भाग लिया। सम्मेलन की शुरुआत गणमान्य व्यक्तियों एवं संतों द्वारा दीप प्रज्ज्वलन से हुई।

NewsToday24x7

Next Post

शिंदे-फडणवीस सरकारच्या विश्वासघात धोरणाविरोधात आदिमांचे भव्य धरणे आंदोलन - आदिम नेत्या ॲड.नंदा पराते

Wed Feb 7 , 2024
– संविधान चौक, नागपूर येथे आदिम हलबा,हलबी आदिवासींचे भव्य धरणे आंदोलन  नागपूर :- आदिम हलबा ,हलबी जमातीच्या विविध मागण्यांना घेऊन राष्ट्रीय आदिम कृति समितीने दिनांक १८ डिसेंबर २०२३ रोजी विधानसभेवर पुकारलेल्या मोर्चात लाखोंच्या संख्येत सामील होऊन शासनाला आपल्या शक्तिची नोंद घेण्यास भाग पाडले. सतत तीन महिने पुकारण्यात आलेल्या या आंदोलनास यशस्वी करण्यास कष्ट घेणारे समाजातील ज्येष्ठ मंडळी ,राष्ट्रीय आदिम कृति […]

You May Like

Latest News

The Latest News

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com