नदियों की सफाई को गति देने का दावा, लगाई गईं 6 पोकलेन मशीनें 

नागपुर :- बारिश के मौसम में नदियों में बाढ़ या नदियों के किनारे की बस्तियों को प्रकोप से बचाने के लिए हर वर्ष बारिश के पूर्व नदियों की सफाई का अभियान चलाया जाता है. मनपा के इतिहास में पहली बार 1 जनवरी से इस अभियान की शुरुआत की गई. लगभग एक माह बीत जाने के बाद नदियों की कितनी सफाई हो पाई, इसका अंदाजा लगाना तो मुश्किल है लेकिन अब नदियों की सफाई को गति देने के लिए 1 फरवरी से अतिरिक्त 6 पोकलेन मशीनों को लगाए जाने का दावा मनपा ने किया.

इसमें 5 बड़ी और 1 छोटी पोकलेन मशीन लगाई गई है. गुरुवार को मुख्य अभियंता राजीव गायकवाड़ के नेतृत्व में मनपा के अधिकारियों की टीम ने सफाई अभियान का जायजा भी लिया.

निकाला जाएगा पूरा मलबा

उल्लेखनीय है कि अब तक नदी सफाई अभियान में नदियों के बीच से मलबा निकालकर किनारों पर ही रखा जाता रहा है जिससे बारिश होने पर किनारों का मलबा पुन: नदियों में मिल जाता था. फलस्वरूप पानी के बहाव में अवरोध उत्पन्न होता था. अब मनपा ने न केवल मलबा पूरी तरह से निकालने बल्कि नदियों की गहराई बढ़ाने का भी निर्णय लिया है. इसी तरह से नदियों से निकलनेवाले मलबे का उचित निपटारा करने की भी योजना तैयार की है. यहां से निकलनेवाला मलबा भांडेवाडी या फिर निचले इलाकों में जमा कर इसे समलत करने की योजना है. नदियों से मलबा निकालने के लिए नियोजन कर समयसारिणी तैयार करने की हिदायत सभी जोन के कार्यकारी अभियंताओं को दी गई है.

– नाग नदी में कुल 17.40 किमी स्वच्छता कार्य प्रस्तावित है. अंबाझरी तालाब से पंचशील चौक, पंचशील चौक से अशोक चौक, अशोक चौक से केडीके कॉलेज व केडीके अशोक चौक से केडीके कॉलेज व केडीके कॉलेज से पीली नदी संगम तक सफाई की जानी है.

– पीली नदी के कुल 16.40 किमी क्षेत्र में सफाई कार्य होगा.

– पोहरा नदी के कुल 13.12 किमी क्षेत्र को स्वच्छ किया जाएगा.

मशीनों से ही नालों की सफाई

बताया जाता है कि नदी स्वच्छता की तरह नालों की सफाई को भी अंजाम दिया जाएगा. शहर के कुल 239 नालों में से गत समय कर्मचारियों द्वारा 161 व मशीन द्वारा 78 नालों की सफाई सुनिश्चित की गई थी. इस वर्ष अधिक से अधिक नालों की सफाई मशीन से ही कराने पर जोर दिया जा रहा है किंतु कुछ नालों की सफाई के लिए कर्मचारियों की आवश्यकता होगी.

इस तरह होगी सफाईनाग नदी

अंबाझरी तालाब से पंचशील चौक

पंचशील चौक से अशोक चौक

अशोक चौक से सेंट जेवियर स्कूल

सेंट जेवियर स्कूल से पारडी ब्रीज (भंडारा रोड)

पारडी ब्रीज से पूनापूर (भरतवाडा – नाग व 

पारडी ब्रीज से पूनापूर (भरतवाडा – नाग व पीली नदी संगम)

पीली नदी

गोरेवाडा तालाब से मानकापुर दहन घाट

मानकापुर दहन घाट से कामठी रोड पुलिया

कामठी रोड पुलिया से पुराना कामठी रोड पुलिया

पुराना कामठी रोड पुलिया से पूनापूर (भरतवाडा – नाग व पीली नदी संगम)

पोहरा नदी

सहकार नगर से नरेंद्र नगर पुलिया

नरेंद्र नगर से पिपला फाटा

पिपला फाटा से नरसाला विहिरगांव 

NewsToday24x7

Next Post

आउटर रिंग रोड : जामठा से फेटरी हुआ तैयार, 4 जुलाई को होगा शुभारंभ 

Sat Feb 3 , 2024
फेज-1 प्रोजेक्ट एक नजर में 33.5 किलोमीटर लंबाई 856 करोड़ लागत 2 मेजर ब्रिज 25 माइनर ब्रिज 1 आरओबी 1 फ्लाईओवर नागपुर :– आउटर रिंग रोड का ग्रहण खत्म हो गया है. 2 में से 1 फेज का शुभारंभ 4 फरवरी को होने जा रहा है. वर्षों से लटके इस प्रोजेक्ट के पूर्ण होने से हजारों यात्रियों को राहत मिलेगी. […]

You May Like

Latest News

The Latest News

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com