टीसीओसी के मौके पर गढ़चिरौली पुलिस को बडी सफलता।

सतीश कुमार,गढ़चिरौली

– 20 लक्ष ईनामी 02 जहाल नक्सलीयों का आत्मसमर्पण

गढ़चिरौली – सरकार द्वारा जारी किये गये आत्मसमर्पण योजना के तहेत साल भर में विभिन्न मुटभेडो में नक्सलीयों का किया गया खात्मा एवं हिंसा के जीवन को परेशान हुए वरिष्ठ नक्सलीयो सहीत अधीक जहाल नक्सलीयों ने आज तक आत्मसमर्पण किया है। उसी के चलते आत्मसमर्पीत नक्सलीयों का गढ़चिरौली पुलिस द्वारा पुनर्वास के कारण नक्सली बडी मात्रा में आत्मसमर्पण कर रहे है। हाल ही में 20 लक्ष रूपये इनाम रहे नक्सल नाम 1) दिपक ऊर्फ मुन्शी रामसु ईष्टाम उमर 34 वर्ष रा. गडेरी पुलीस सहायता केंद्र कोटमी तहसील एटापल्ली जि. गढचिरौली और 2) शामबत्ती नेवरू आलाम उमर 25 वर्ष रा. हिदवाडा पोस्ट. ओरच्छा जिला नारायणपूर (छ.ग.) इन्होने  पुलिस अधीक्षक अंकित गोयल सा. इनके सामने आत्मसमर्पण किया।
दिपक ईष्टाम और शामबत्ती आलाम यह दोनो पती-पत्नी है और प्लाटून क्र. 21 मे कार्यरत है।
दिपक ईष्टाम यह डीव्हीसी पदपर और शामबत्ती आलाम ये प्लाटून सदस्य के पद पर कार्यरत थे। दिपक ईष्टाम इसपर खून के 03, मुठभेड के 08, आगजनी के 02 अपराध दर्ज है। माह जुलाई- 2001 मे वह कसनसूर दलम सदस्य पद पर भरती हुआ था। माह अक्टुबर 2001 से नवंबर 2002 तक वह चामोर्शी दलम में सदस्य रहा। उसके बाद वह सीसीएम देवजी के प्रोटेक्शन गार्ड में माह अक्टुबर 2004 तक कार्यरत था। कंपनी क्र. 1 ए सेक्शन में उपकमांडर एवं साल 2006 में कमांडर था। 2009 सें 2015 तक यह कंपनी क्र. 1 में ए प्लाटुन कमांडर था। माह फरवरी 2015 सें आजतक वह प्लाटून क्र. 21 में डीव्हीसी पदपर कार्यरत था। नक्षल में कार्यरत रहते समय उसने विभिन्न जगहो पर 6 अँम्बुश लगाऐ थे। उसने लगाऐ हुए अँम्बुश में छत्तीसगढ के कुदूरघाटी 04, झाराघाटी 02, कोंगेरा 25 ऐसे कुल 31 जवान शहीद हुए। पत्नी शामबत्ती इसपर मुठभेड के 02 अपराध दर्ज है। और वह 2015 में जनमिलीशिया सदस्य उसके बाद प्लाटुन क्र. 16 में सदस्य पद पर भरती होकर जनवरी 2017 तक कार्यरत थी। माह जनवरी 2017 में प्लाटुन क्र. 21 में अब तक कार्यरत थी।

सरकारने दिपक ईष्टाम इसपर 16 लक्ष रूपये और शामबत्ती आलाम इसके उपर 04 लक्ष रूपयों का इनाम घोषीत किया था। उन्होने आत्मसमर्पण के कारण पुनर्वास के लिए सरकार की तरफ से दिपक ईष्टाम को 06 लक्ष रूपये एवं शामबत्ती आलाम इनको 2.5 लक्ष रूपये और पती-पत्नी के सामूहिक आत्मसमर्पण के कारण अतिरिक्त 1.5 लक्ष ऐसे कुल 10 लक्ष रूपये और सरकार के अन्य योजनावों का लाभ मिलनेवाला है।
गढ़चिरौली जिला पुलिस बल के द्वारा प्रभावी नक्सली विरोधी अभियान चलाने के कारण साल- 2019 से 2022 साल में अब तक कुल 45 नक्सलीयों ने आत्मसमर्पण किया। इसमे 5 डीव्हीसी, 2 दलम कमांडर,03 उपकमांडर, 34 सदस्य और 1 जनमिलीशिया का समावेश है।

नक्सलीयों को आत्मसमर्पण कर के मुख्यधारा में लाने की कार्रवाई गढचिरौली जिले के पुलिस अधीक्षक अंकित गोयल ,अपर पुलिस अधीक्षक (अभियान) सोमय मुंडे, अपर पुलिस अधीक्षक (प्रशासन)  समीर शेख , अपर पुलिस अधीक्षक अहेरी अनुज तारे इनके मार्गदर्शन में विशेष अभियान पथक के सपोनि श्री. बाबासाहब दुधाळ इन्होने प्रमुख भुमिका निभाई है। टीसीओसी सप्ताह के मौके पर 02 चरमपंथी नक्सलीयों का गढचिरौली पुलिस बल के सामने आत्मसमर्पण करने से नक्सली गतिविधियों को प्रतिबंधित करने में गढचिरौली पुलिस बलने बडी सफलता हासिल की है।
अब तक कुल 649 नक्सलीयो ने आत्मसमर्पण किया है और गढचिरौली पुलिस बल के माध्यम से कुल 144 आत्मसमर्पण करनेवाले नक्सलीयोंको भूखंड, 117 आत्मसमर्पीत नक्सल सदस्योंको घरकुल योजनावों के तहेत आवास, 643 आत्मसमर्पीत नक्सल सदस्यों को आधारकार्ड का वितरण, 36 महीला नक्सल सदस्योंको सिलाई मशीन का वितरण, 23 आत्मसमर्पीत नक्सल सदस्योंको बकरी पालन और अन्य सरकारी योजनाओं के लाभ दिये गए है। इसका नतिजा आत्मसमर्पण करनेवाले नक्सलींयों की संख्या बढ रही है। और वे लोकतंत्र की मुख्यधारा में शामिल हो रहें हैं और सन्मान जनक जीवन जी रहे है।
विकास कार्य में बाधा पहुचानेवाले नक्सलीयों को मुहतोड जवाब देने के लिए पुलिस विभाग सक्षम है। हिंसा का मार्ग छोडकर अहिंसा का मार्ग अपनाने के लिए विकास की मुख्यधारा में शामिल होने के लिए और लोकतंत्र में सम्मान जनक जीवन जिने के लिए इच्छुक नक्सलीयों  को गढचिरौली पुलिस बल पुरी ताकद के साथ सहयोग करेगा। इसलीए राह भटके हुए नक्सलियों को मुख्यधारा में शामील होकर शांततापुर्ण जीवन बिताने के लिए आत्मसमर्पण करने का आव्हान पुलिस अधीक्षक गढचिरौली अंकित गोयल  इन्होनेे किया है।

Email Us for News or Artical - [email protected]
WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
error: Content is protected !!