अबू धाबी में ‘बी.ए.पी.एस.हिन्दू मंदिर उद्घाटन समारोह में सनातन संस्था के संतों की वंदनीय उपस्थिति !

– इस्लामिक देश में हिन्दू मंदिर का निर्माण होना, वैश्विक हिन्दू राष्ट्र निर्माण का शंखनाद है ! – श्रीसत्शक्ति बिंदा सिंगबाळ, सनातन संस्था

अबू धाबी :- कुछ दिन पूर्व ही भारत में अयोध्या में श्रीराम मंदिर का निर्माण हुआ एवं रामलला की मूर्ति की प्राणप्रतिष्ठा का भव्य समारोह अखिल विश्व ने अनुभव किया । अब यु.ए.ई. जैसे इस्लामिक देश में भी बी.ए.पी.एस. हिन्दू मंदिर का निर्माण हुआ है । यह एक प्रकार से वैश्विक हिन्दू राष्ट्र के निर्माण का शंखनाद हैै, ऐसा प्रतिपादन श्रीसत्‌शक्ति (श्रीमती) बिंदा नीलेश सिंगबाळजी ने किया । अबू धाबी के मंदिर उद्घाटन कार्यक्रम के पश्चात वे ऐसा बोल रही थीं ।

इस समय श्रीचित्‌शक्ति अंजली गाडगीळ ने कहा, ‘पिछले कुछ शतकों में भारत के हिन्दू मंदिरों पर आक्रमण हुए, मंदिर नष्ट-भ्रष्ट किए गए; अब भारत की वह सभी वास्तू पुनः एकबार कानूनन मार्ग से संघर्ष कर हिन्दू समाज को प्राप्त हो रही हैं । उन स्थानों पर मंदिरों का निर्माण हो रहा है । इतना ही नहीं, अपितु अब इस्लामी देशों में हिन्दू मंदिरों की निर्मिति होने लगी है । हिन्दू धर्म की महानता काल के अनुसार पूरे विश्व में फैल रही है । यह कालचक्र है, उसे कोई रोक नहीं सकता । भारत विश्वगुरुपद की ओर अग्रसर हो रहा है । इसी का यह द्योतक है ।

पश्चिम एशिया का सबसे बडा हिन्दू मंदिर ‘बी.ए.पी.एस. हिन्दू मंदिर’ का उद्घाटन 14 फरवरी को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के करकमलों से हुआ । इस उपलक्ष्य में मंदिर द्वारा 15 फरवरी को आयोजित ‘हार्मनी’ कार्यक्रम में सनातन संस्था की ओर से सच्चिदानंद परब्रह्म डॉ. आठवले की आध्यात्मिक उत्तराधिकारिणी श्रीसत्‌शक्ति बिंदा सिंगबाळ एवं श्रीचित्‌शक्ति  अंजली गाडगीळ की वंदनीय उपस्थिति का लाभ हुआ । मंदिर के पदाधिकारी रवींद्र कदम ने अक्टूबर 2023 में मंदिर की ओर से उद्घाटन समारोह का निमंत्रण भेजा था । मंदिर के प्रमुख महंत स्वामी महाराज की अध्यक्षता में यह कार्यक्रम संपन्न हुआ । इस कार्यक्रम में हरिद्वार के आखाडा के महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद ‘प्रमुख अतिथि’ के रूप में उपस्थित थे । स्वामी ब्रह्मविहारीदास महाराज ने स्वागतपर भाषण दिया ।

सनातन संस्था के ३ गुरुओं के नाम पर मंदिर के निर्माणकार्य के लिए 3 ईंटें अर्पण !

जुलाई 2022 में श्रीचित्‌शक्तिअंजली गाडगीळ अनुसंधान के निमित्त संयुक्त अरब अमिरात की यात्रा पर थीं । उस समय वह ‘बी.ए.पी.एस. हिन्दू मंदिर’ भी गईं थी एवं निर्माणकार्य का ब्योरा लिया था, साथ ही सनातन संस्था के 3 गुरुओं के नाम पर (सच्चिदानंद परब्रह्म डॉ. आठवले, श्रीसत्शक्ति बिंदा सिंगबाळ एवं श्रीचित्‌शक्ति अंजली गाडगीळ के नाम पर) मंदिर के निर्माणकार्य के लिए ३ ईंटें पूजन कर अर्पण की थीं ।

Contact us for news or articles - dineshdamahe86@gmail.com

NewsToday24x7

Next Post

विभागीय आयुक्त कार्यालयात दर्पणकार आचार्य बाळशास्त्री जांभेकर यांना अभिवादन

Tue Feb 20 , 2024
नागपूर :- मराठी वृत्तपत्र सृष्टीचे जनक, आद्य पत्रकार दर्पणकार आचार्य बाळशास्त्री जांभेकर यांची जयंती आज विभागीय आयुक्त कार्यालयात साजरी करण्यात आली. सामान्य प्रशासन उपायुक्त प्रदीप कुलकर्णी यांनी प्रतिमेला पुष्पहार अर्पण करुन अभिवादन केले. यावेळी आयोजित कार्यक्रमात तहसिलदार महेश सावंत, नायब तहसिलदार आर.के. दिघोळे, नितीन डोईफोडे, लेखाधिकारी रत्नाकर पागोटे, नाझर अमित हाडके यांच्यासह उपस्थित अधिकारी-कर्मचाऱ्यांनी प्रतिमेला पुष्प अर्पण करुन अभिवादन केले. […]

You May Like

Latest News

The Latest News

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com