फ्लाइंग क्लब को विस्तार की प्रतीक्षा , मिहान की जगह पर होगा छात्रावास प्रशासकीय इमारत

नागपुर :- लंबी प्रतीक्षा के बाद शुरू हुआ नागपुर फ्लाइंग क्लब अब धीरे-धीरे गति से क्रियान्वित हो रहा है यहां के रिक्त पदों की भर्ती प्रक्रिया पूर्ण होकर पाठ्यक्रम भी शुरू हुआ है परंतु ध्यान से जगह पर नए स्वरूप के फ्लाइंग क्लब के प्रतीक्षा अभी कायम है।

नागपुर में 1948 में लायंस कब शुरू हुआ था परंतु सरकारी उदासीनता से 1889 में यह क्लॉक बंद पड़ा इसके बाद काफी प्रयास से 2009-10 से लायंस क्लब फिर एक बार शुरू हुआ 2012 में क्लब मिर्ची फ्लाइंग इंस्ट्रक्टर का पद खाली हुआ इसलिए वास सिकंदराबाद विंग्स एवियशन से नौकरी से निकाले सलाम की नियुक्ति की गई सलाम कर लापरवाही लैंगिक शोषण और छात्रों से अवैध रूप से पैसे वसूल करने के आरोप थे फिर भी उनके खिलाफ 2015 तक कोई कार्रवाई नहीं हुई यह सारी बातें कोर्ट में पहुंची इस दौरान करीब सारे 3 वर्षों से यहां प्रशिक्षण बंद था।

तत्कालीन विभागीय आयुक्त डॉ. संजीव कुमार के प्रयास से फ्लाइंग क्लब की प्रक्रिया फिर से शुरू हुई इसके बाद आई विभागीय आयुक्त डॉ. प्राजक्ता लवांगारे के कार्यकाल में लायंस क्लब नए सिरे से शुरू हुआ फ़िलहाल इस क्लब में आवश्यक सारे पद भरे गए हैं प्रशिक्षण के लिए हवाई जहाजों की उचित देखभाल शुरू है खास बात यह है कि प्रशिक्षण पाठ्यक्रम शुरू होकर उसे विद्यार्थियों का अच्छा प्रतिसाद मिला है परंतु फ्लाइंग क्लब का प्रयास किया कार्यालय एक ही स्थान पर है इसका विस्तार करने के लिए महाराष्ट्र हवाई अड्डा विकास कंपनी ने एम ए डी सी पिक अप को मिहान में एयर इंडिया के एमआरओ के पास 5 एकड़ जगह दी है इस जगह पर प्रशिक्षणार्थियों के लिए छात्रावास प्रशासकीय इमारत कक्षाएं आदि प्रस्तावित है।

महात्मा फुले संशोधन व प्रशिक्षण संस्था महाज्योति वैमानिक प्रशिक्षण के लिए 20 लोगों का चयन किया गया है इन सभी का प्रशिक्षण सोमवार 10 अक्टूबर से शुरू हुआ है केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की उपस्थिति में प्रशिक्षण शुरू होगा।

Email Us for News or Artical - [email protected]
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com