हिंगना सेलु मार्ग के निर्माण कार्य में करोडों रूपए का भ्रष्टाचार, हो रहा निकृष्ठ दर्जे का निर्माण कार्य 

शेख अलीम महाजन, प्रतिनिधी

जगह जगह से उखड़ पड़ी सीमेंट सड़क

3 वर्ष से कछावा गती से हो रहा निर्माण कार्य

हिंगना :-नागपुर से लगी हिंगना तहसील के पूरे राष्ट्रीय और राज्य मार्ग के निर्माण कार्य के लिए विधायक समीर मेघे ने कथित प्रयास कर करोडों रुपए की निधी लाने का काम किया है। लेकिन अधिकारियो ने अधिक रुपए कमाने की लालच में ठेकेदारों से साठ गांठ कर निकृष्ठ दर्जे के काम को सही ठहराते हुए करोड़ों रुपए का बिल मंजूर कर बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार किए जाने की जानकारी सूत्रो से मिली है।जिसमे नागपुर-130 रस्ता हिंगना मुख्य मार्ग के सीआरपीएफ गेट से लेकर हिंगनी, घोराड से सेलू तक 170 करोड़ रूपए की निधी से 52.72 किलो मीटर निर्माण कार्य का समावेश है। इस निर्माण कार्य का ठेका सार्वजनिक निर्माण विभाग वर्धा की ओर से खड़तकर कंट्रक्शन कंपनी को दिया गया है। हिंगना क्षेत्र में रास्ते, नाली, रिलिंग आदि का निर्माण कार्य निष्कृष्ठ दर्जे का किए जाने का आरोप लगाया जा रहा हैं। जिसमे करोड़ो रुपए का भ्रष्टाचार किया गया है। 169 करोड 81 लाख रुपए के काम में अब तक 145 करोड रुपए का भुक्तन ठेकेदार को किया जा चुका है।

यह बन रहा है रास्ता 

हायब्रिड ॲन्युटी योजना के तहत के वर्धा जिले के रास्तों की सुधारना करने के लिए महाराष्ट्र शासन सार्वजनिक निर्माण विभाग की ओर से शासन निर्णय क्र. पीएलएन 2016/सीआर-2403/नि.3, मंत्रालय मुंबई ने 30 नवंबर 2016 को पैकेज 130 और 131 मिलाकर 333.48 करोड़ रूपए की निधी मंजूर की थी। वही सार्वजनिक निर्माण विभाग के प्रादेशिक विभाग नागपुर के मुख्य अभियंता द्वारा तांत्रिक मान्यता दी गई। यह तांत्रिक मान्यता क्र. 52/सी.ई. / 2018-19 के तहत नागपुर पॅकेज 130 और 131 को मिलाकर 313.62 करोड़ रूपए की हैं। इस 313.62 करोड़ रूपए के निर्माण कार्य को दो पैकेज में डिवाइड किया गया है। यह काम जेवी में डी. पी. जैन एंड क. इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रा. और खलतकर कंस्ट्रक्शन कंपनी को दीया गया है। हिंगना से सेलू तक 169 करोड 81 लाख रुपए का नागपुर 130 पैकेज का काम खलतकर कंस्ट्रक्शन कंपनी कर रही हैं। वही घोरड, सेलू तहसील से सिरसगांव तक 50.66 किलो मीटर तक 179.32 करोड़ रूपए का काम डी. पी. जैन एंड क. इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रा. कंपनी को मिला है।

यह हैं निर्माण कार्य के काम 

नागपुर 130 पैकेज में नागपुर के सीआरपीएफ गेट से घोराड़, सेलू वर्धा जिले तक 9/400 किलो मीटर से 61/700 किलो मीटर तक 52.72 कोली मीटर मार्ग का समावेश है। इसमें 47.86 किलो मीटर डाबरी रास्ता, 4.86 किलो मीटर सीमेंट रोड, 73 पाइप की नाली, 13 छोटे पुल आदी निर्माण कार्य का समावेश है। यह किए जाने वाले निर्माण कार्य निष्कृष्ट दर्जे के होने की बात जोरो पर है। क्युकी इस ठेकेदार को वरिष्ठ नेताओं का आशीर्वाद प्राप्त है। जिसके चलते होने वाले सभी कामों को अच्छा बताकर बिल पास किया जाता हैं।

2 वर्ष में करना था काम

नागपुर घोराड एनुइटी रोड प्रोजेक्ट प्राइवेट लिमिटेड के इस निर्माण कार्य का ठेके का एग्रीमेंट खलतकर कंस्ट्रक्शन कंपनी के साथ 30 अक्टूबर 2018 को हुवा। काम के लिए 16 मार्च 2019 को नियुक्ती हुई। 12 अप्रैल 2019 को स्वतंत्र अभियंता इन्फ्रास्ट्रक्चर डिजाइन कंसल्टेंट प्रा. ली. मुंबई की नियुक्ती की गई। इस काम को मार्च 2021 में पुरा करना था। लेकिन कोरोना के चलते काम नही होने से उसे 31 दिसंबर 2022 तक एक्टेंशन दिया गया। लेकिन अब भी बहोत काम बाकी है और जो काम हुवा है वह भी निष्कृष्ट दर्जे का होने का आरोप है। जिसकी जांच होना बेहद जरूरी है। अधिकारियो की मिलीभगत से करोडों रूपए का भ्रष्टाचार हों रहा हैं। जिसमे ठेकेदार के साथ ही संबधित अधिकारीयों के संपतियो की जांच भी होना अनिवार्य है।

जमीनी हकीकत से अधिकारी कोसो दूर 

अधिकारियो के कहे मुताबिक ठेकेदार द्वारा काम अच्छा किया जा रहा हैं और 95 प्रतिशत तक निर्माण कार्य हो चुका है। वानाडोगरी में ही क़रीब एक किलो मीटर से अधिक डाबर रोड़ की जगह सिमेंट रोड बनाने के प्रस्ताव की वजह से काम रूका हुवा है। वह भी जल्द शुरू हो जाएगा। लेकिन जमीनी हकीकत से अधिकारी कोसो दूर हैं। सीआरपीएफ गेट से राजिवनगर तक बने हुए सीमेंट सड़क को जगह जगह से उखड़ा कर गिट्टिया दिख रही हैं। सीमेंट सड़क में दरारे गिर गई है। पूरानी नाली पर ही स्लैब डाला गया है। नालियों पर लगाई गई लोहे की रेलिंग टूट रही हैं। हिंगना नगर पंचायत अंतर्गत बनाया गया डाबर रोड़ पूरी तरह उखड़ गया है। इतना सब होने के बाद भी अच्छा काम कहने वाले अधिकारी कितने सही है। इसका अनुमान लगाया जा सकता है। मजे की बात तो यह है कि 169 करोड 81 लाख रुपए के पूरे काम में से निष्कृष्ट दर्जे के निर्माण कार्य पर अब तक सार्वजानिक निर्माण विभाग वर्धा की ओर से ठेकेदार को 145 करोड रुपए का भुक्तन किया जा चुका है। सिर्फ 25 करोड़ रूपए देना बाकी है। इस मामले की जांच कर दोषी अधिकारी और अच्छा काम कराकर लेने के लिए नियुक्त की गई स्वतंत्र अभियंता एजेंसी, तथा ठेकेदार पर करवाई कीए जाने की मांग स्थानिक नागरीको द्वारा की जा रही हैं।

काम अच्छा हो रहा है

हिंगना से सेलू तक का निर्माण कार्य अच्छा हो रहा है। क़रीब 95 प्रतिशत काम पुरा हो चुका है। वानाडोगरी क्षेत्र में स्थानिक विधायक के आग्रह पर डाबर रोड़ की जगह सीमेंट सड़क का प्रस्ताव भेजा गया है। 8 दीन में वह मंजुर हो जायेगा। जल्द ही वह काम भी पुरा होंगा।

पी. एन. बूब,

कार्यकारी अभियंता, 

सार्वजनिक निर्माण विभाग वर्धा 

सही हो रहा है निर्माण कार्य

काम सही हो रहा है। अगर कहीं कुछ हुवा है तो उसे दुरूस्त किया जायेगा। हमारे तरफ़ 10 वर्ष के लिए मेंटेनस की जिम्मेदारी है। सड़क खराब हुईं तो डबल से बनाकर देंगे।

जयंत खड़तकर, मैनेजिंग डायरेक्टर, खलतकर कंस्ट्रक्शन लिमिटेड

Email Us for News or Artical - [email protected]
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com