SECL खदान यार्डों से कोल माफियाओं कर रहे लाखों टन कोयला की तस्करी 

– पुलिस अधीक्षक से मामले की जांच और कार्यवाही की मांग

बिश्रामपुर :- सूरजपुर जिले में इनदिनों फिर एसईसीएल की कोयला खदानों से प्रतिदिन लाखों टन मीट्रिक कोयला की चोरी और तस्करी से सरकार को करोडों का नुकसान हो रहा है. एसईसीएल बिश्रामपुर क्षेत्र की गायत्री, रेहर, कुमदा 7/8 एवं बलरामपुर खदानों समेत भटगांव क्षेत्र की महान 1, 2, 3 कोयला खदानों से कोयला माफिया द्वारा भारी मात्रा में कोयले की चोरी करा कर ट्रकों के जरिए धड़ल्ले से रोजाना लाखों टन कोयला तस्करी को अंजाम दिया जा रहा हैं। कोरला संगठनों ने बेरोकटोक जारी कोयला तस्करी को कथित स्थानीय पुलिस थाना के साथ राजनीतिक संरक्षण होना बताया जा रहा है।

कोयला चोरी को लेकरं मारपीट पर उतारु

कोयला खदानों में सौ डेढ़ सौ लोगों के जबरन घुसकर कोयला चोरी किए जाने तथा विरोध करने पर मारपीट की स्थिति निर्मित होने से चिंतित एसईसीएल बिश्रामपुर एवं भटगांव क्षेत्रीय प्रबंधन द्वारा पुलिस के आला अफसरों से शिकायत कर इस पर लगाम लगाने की मांग की गई है। बावजूद लगातार कोयला चोरी जारी रहने से पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठ रहे हैं। सूत्रों की माने तो कोयला तस्करी से जुड़े आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों द्वारा मामले में जिले एवं संभाग के आला पुलिस अधिकारियों से सेटिंग होने की बात कहते हुए कोयला तस्करी का विरोध करने वालों को भयभीत कर पुलिस की छवि धूमिल करने का प्रयास कर रहे है। एसईसीएल बिश्रामपुर क्षेत्र की गायत्री समेत रेहर भूमिगत खदान, बलरामपुर एवं कुमदा 7-8 भूमिगत खदान में शाम ढलने से लेकर रातभर सौ से डेढ़ सौ महिला-पुरुष घुसकर भारी मात्रा में कोयला चोरी की वारदात को अंजाम दे रहे हैं। कथित पुलिसिया संरक्षण के कारण खदानों में तैनात सुरक्षा गार्ड भी इसे रोकने में पूरी तरह नाकाम साबित हो रहे हैं। एसईसीएल प्रबंधन कोयला एवं कबाड़ की चोरी की शिकायत अनेकों बार संबंधित थानों से लेकर एसपी और आइजी तक कर चुका है। बावजूद कोयले का काला कारोबार बेरोकटोक धड़ल्ले से जारी है। खदानों से चोरी किए जा रहे कोयले को आसपास के वैध एवं अवैध ईंट भट्टों में खपाया जा रहा है।

भटगांव की खदानों से बड़े पैमाने पर कोयला तस्करी

कोल माफिया द्वारा इनदिनों एसईसीएल भटगांव क्षेत्र की महान 1, 2 , 3 खुली खदानों समेत बंद खदानों से कोयला चोरी करा कर ट्रकों से निर्बाध गति से तस्करी किया जा रहा है। कोयला तस्करों द्वारा स्थानीय पुलिसिया सेटिंग होने की बात कहकर भोले-भाले ग्रामीणों से भटगांव क्षेत्र की खुली खदानों से कोयला चोरी कराकर आसपास के गांव में कांटा लगा खरीदी कराई जा रही है। कोयला तस्करों द्वारा महान एक खदान से चोरी किए जा रहे कोयले की खरीदी शिवारीपारा, पोंड़ी एवं आसपास के गांव में की जा रही है। वहीं जगन्नाथपुर गांव में संचालित महान 3 के साथ ही महान 2 ओपन कास्ट खदान से भी कोयले की चोरी बदस्तूर जारी है। इतना ही नहीं भटगांव क्षेत्र की बंद दुग्गा ओपन कास्ट परियोजना में घुसकर ग्रामीण महिला-पुरुषों के साथ बच्चों द्वारा जान जोखिम में डालकर कोयले की चोरी की जा रही है। कोयला खान क्षेत्रों के आसपास गांव में रहने वाले महिला पुरुषों ने कोयला चोरी को जीविकोपार्जन का जरिया बना लिया है। बांधपारा में भी कोयले की खरीदी जारी है।

एसकेएमएस एटक यूनियन के केंद्रीय अध्यक्ष अजय विश्वकर्मा ने खदानों में अनाधिकृत प्रवेश कर भारी मात्रा में की जा रही कोयला चोरी पर चिंता जाहिर की है। उन्होंने कहा कि कोयला चोरी से कामगारों में दहशत का माहौल है। इसके साथ ही कंपनी को अपूरणीय क्षति हो रही है। कोयला चोरी में सांठगांठ के आरोप लगने से पुलिस की छवि धूमिल हो रही है। कोयले के अवैध कारोबार पर तत्काल रोक लगनी चाहिए। एचएमएस भटगांव क्षेत्र के महामंत्री तेज बहादुर सिंह ने कोयला खदानों से लगातार चोरी की पुष्टि करते हुए कहा कि प्रबंधन द्वारा चोरी की बार-बार शिकायत किए जाने के बावजूद कार्रवाई नहीं होना चिंता का विषय है। सौ से डेढ़ सौ की संख्या में खदानों में अनाधिकृत प्रवेश कर चोरों द्वारा जबरन कोयला चोरी की जा रही है। इसका विरोध करने पर चोरों द्वारा सुरक्षा गाडोर् एवं कोयला कर्मियों से विवाद किया जाता है। इस पर अविलंब रोक लगनी चाहिए।

ट्रकों से की जा रही है कोयला तस्करी

पैसों का लालच देकर ग्रामीणों से खदानों से कोयले की चोरी कराकर खदानों के आसपास के ग्रामों में कोयले की खरीदी कराने के बाद देर रात से लेकर तड़के तक ट्रकों में कोयला लोड कराकर तस्करी की जा रही है।

प्रबंधन लगातार कर रहा चोरी की शिकायत

जगन्नाथपुर ओपन कास्ट परियोजना के खान प्रबंधक द्वारा संबंधित ग्राम पंचायतों के सरपंच समेत थाना प्रभारी एवं पुलिस के आला अफसरों को पत्र लिखकर खदान में अनाधिकृत प्रवेश कर चोरों द्वारा कोयला चोरी की वारदात को अंजाम दिए जाने की शिकायत करते हुए इस पर रोक लगाने की मांग की है। इसी प्रकार बिश्रामपुर क्षेत्र अंतर्गत कोयला खदानों से लाखों का कोयला चोरी किए जाने की शिकायत खान प्रबंधन द्वारा संबंधित थानों समेत पुलिस के आला अधिकारियों से करते हुए चोरी पर रोक लगाने की मांग कई बार की जा चुकी है। शिकायतों के बावजूद चोरी और कोयला तस्करी का कारोबार धड़ल्ले से जारी है। जिससे एसईसीएल को भारी क्षति का सामना करना पड़ रहा है।

कोयला चोरी में हो चुकी है कई मौतें

एसईसीएल की बंद ओपन कास्ट खदानों से कोयले का अवैध उत्खनन कर चोरी करने तथा चालू ओपन कास्ट खदानों में अनाधिकृत प्रवेश कर कोयला चोरी किए जाने से दर्जनों ग्रामीणों को मौत का शिकार होना पड़ा है। बावजूद कोयला तस्करी के धंधे से पुलिसिया छवि के साथ राज्य सरकार की छवि पर भी सवालिया निशान लग रहा है।

कोयला तस्करी के कार्य में पुलिसिया सांठगांठ के आरोप निराधार हैं। सूचना मिलने पर पुलिस द्वारा त्वरित कार्रवाई की जाती है। आपके माध्यम से मामला संज्ञान में आया है। जांच करा कर कार्रवाई की जाएगी। यह सनसनीखेज जानकारी सूरजपुर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  हरीश राठोर ने दी और क्या कि इस पर रोक लगाया जाना निहायत जरुरी है.

 

Email Us for News or Artical - [email protected]
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com